Saturday, 21 September, 2019
ब्रेकिंग न्यूज़ :
4 इंडियन शो, जिसने महिलाओं को सशक्त किया और लोगों की मानसिकता बदल दीमौन रहकर ही सुनी जा सकती है ईश्वर की आवाजचंडीगढ़ के बॉडीबिल्डर भरत सिंह वालिया ने मियामी में जीता मिस्टर यूनिवर्स खिताबनिवेशकों को अमेरिका में बसने का अवसर, ग्रीन कार्ड मीट 16-17 जुलाई को ताज चंडीगढ़ मेंसिंगर विलेन का प्रेरक ट्रैक 'एक रात ' यूट्यूब पर हुआ लोकप्रियब्लॉगर्स अलायंस के चंडीगढ़ चैप्टर की स्थापनामनुष्य के लिए सबसे जरूरी चीज है सच्चाई को जानना - विवेक अग्निहोत्रीवैश्विक फलक पर भारतीय शतरंज उद्योगमंत्री बलबीर सिंह सिद्धू और पंजाबी अभिनेत्री जपजी खैरा ने किया डब्ल्यूके लाइफ का उद्घाटनबायोटैक छात्रा गुरलीन कौर: 100 गुरबाणी कीर्तन, दो एल्बम, फिर एमबीए
हरियाणा न्यूज़

हरियाणा सरकार का उद्देश्य प्रदेश की संस्कृति और कला को विश्वपटल पर पहचान देना है – कविता जैन

May 10, 2018 10:27 AM

चंडीगढ़ - हरियाणा की कला एवं संस्कृति मंत्री कविता जैन ने कहा कि राज्य सरकर का उद्देश्य हरियाणा की संस्कृति और कला को विश्वपटल पर पहचान देना है, ताकि भावी पीढ़ी को हरियाणा के इतिहास और कला संस्कृति से जुड़ाव हो सके। यह बात कविता जैन ने यहां उनकी अध्यक्षता में हुई हरियाणा कला परिषद की समीक्षा बैठक के दौरान कही। बैठक में श्रीमती जैन ने हरियाणा कला परिषद की वेबसाइट भी लॉन्च की।

कविता जैन ने कहा कि हमारा देश संस्कृति और संस्कारों से जुड़ा हुआ देश है। इसलिए विकास के साथ-साथ संस्कृति और संस्कारों को भी निरंतर बढ़ाने की  आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि सरकार की  यही मंशा है कि प्रदेश की संस्कृति को बढ़ावा मिले और भावी पीढ़ी इस संस्कृति को अपनाएं। उन्होंने कहा कि कला संस्कृति एक ऐसा माध्यम है जिससे समाज में किसी भी विषय पर जागरूकता लाने और समाज की सोच बदलने का कार्य प्रभावशाली तरीके से किया जा सकता है। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि हरियाणा की कला संस्कृति को लोक गीतों, कार्यक्रमों इत्यादि के माध्यम से प्रदेश के कोने-काने तक पहुंचाया जाए। उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया के माध्यम से हरियाणा की खान-पान, कला व संस्कृति को राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाएं।

हरियाणा कला परिषद द्वारा उठाए गए मुद्दों पर कला एवं संस्कृति मंत्री ने अधिकारियों को सुझाव देते हुए कहा कि स्कूलों में कला अध्यापक लगाया जाए और स्कूली बच्चों को कला संस्कृति के बारे में पढ़ाया जाए ताकि बच्चों को हरियाणा के इतिहास  और कला संस्कृति का प्रगाढ़ अध्ययन हो सके। उन्होंने कहा कि प्रदेश में ओपन थियेटर के विचार पर भी कार्य करना चाहिए, जिससे लोगों का कला संस्कृति के प्रति अधिक जुड़ाव हो सकेगा। उन्होंने कहा कि जो व्यक्ति हरियाणा की विलुप्त विधाओं को आज भी जीवंत रखने का कार्य कर रहे हैं उनके लिए कोई विशेष नीति बनाई जानी चाहिए और उन्हें प्रोत्साहित करना चाहिए।

बैठक में श्रीमती जैन को बताया गया कि विभाग द्वारा ऑनलाइन पोर्टल तैयार कर लिया गया है और जल्द ही इसे पूर्ण रूप दे दिया जाएगा। इस पोर्टल पर प्रदेश के कलाकार अपना पंजीकरण करवा सकेंगे। पंजीकरण होने के बाद कलाकारों को दी जाने वाली राशि सीधे उनके खाते में पहुंचा दी जाएगी। जिससे कलाकारों को शोषण होने से बचेगा और सिस्टम में पारदर्शिता भी बढ़ेगी।

बैठक में स्कूल शिक्षा विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव धीरा खंडेलवाल, सांस्कृतिक विभाग के संयुक्त निदेशक सुधांशु गौतम, हरियाणा कला परिषद के उपाध्यक्ष, सुदेश शर्मा और क्षेत्रीय निदेशक उपस्थित थे।

Have something to say? Post your comment
और हरियाणा न्यूज़
ताजा न्यूज़
मेरा करियर ग्राफ प्रोग्रेस कर रहा है- निहारिका रायज़ादा जय ठक्कर ने बप्पा का ईको विसर्जन किया थिएटर एंड सिनेमा, दोनों में क्राफ्ट की जरूरत होती है- निशांक वर्मा लीडस्टार्ट ने नेहा गुप्ता को उनकी बुक "स्वैप्ड" के लिए साइन किया है मेरा हबीब सॉन्ग का रिस्पांस एक सपने के सच होने जैसा है- नयन शंकर निहारिका रायज़ादा अपने नए टी वी सी में इंडियन आर्म्ड फोर्सेज को सलाम करती नज़र आयी  ब्युटी, ब्रेन और टैलेंटे का परफेक्ट मिश्रण है काव्या किरण अपनी फिल्मों के माध्यम से सोशियल इशू पर बात करेंगे फिल्ममेकर तुषार त्यागी अपने कठिन प्रयासों से असम का पुन:निर्माण कर रहे हैं सिंगर पापोन एक्टर राजवीर सिंह अब "काशी टू कश्मीर" का सफर करेंगे 4 इंडियन शो, जिसने महिलाओं को सशक्त किया और लोगों की मानसिकता बदल दी तारा फ्रॉम सतारा से चमकेगा आईडियारैक का सितारा
Copyright © 2016 AbhitakNews.com, A Venture of Lakshya Enterprises. All rights reserved.
Website Designed by Mozart Infotech