Wednesday, 16 January, 2019
ब्रेकिंग न्यूज़ :
भिक्खु संघसेना नेशनल गौरव पुरस्कार से सम्मानितन्याय के देवता शनि अस्त - 5 राशियों वाले रहेंगे मस्त - मदन गुप्ता सपाटू29 नवंबर को रिलीज होगी पंजाबी फिल्म ‘दिन दहाड़े ले जायेंगें’मनीष ने कैंसर पीड़ित फैन को इंडियन आईडल के सेट पर बुलायाभगवत गीता के उपदेशबचपन को लीलता होमवर्क का बोझ - ललित गर्गमलमास के कारण विवाह व मांगलिक कार्य रहेंगे 16 मई से 13 जून तक बंद मोहाली आईटी हब के तौर पर होगा विकसित, स्पेशल टास्क फोर्स तैयार करेगी रोड मैप - सिंगलापंजाब सरकार विपक्षी दलों की आलोचना का जवाब चुनावी वायदे पूरे करके दे रही - आशुरिकवरी करने में लापरवाही करने वालों के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही की जायेगी-सुखजिन्दर सिंह रंधावा
हरियाणा न्यूज़

हरियाणा सरकार का उद्देश्य प्रदेश की संस्कृति और कला को विश्वपटल पर पहचान देना है – कविता जैन

May 10, 2018 10:27 AM

चंडीगढ़ - हरियाणा की कला एवं संस्कृति मंत्री कविता जैन ने कहा कि राज्य सरकर का उद्देश्य हरियाणा की संस्कृति और कला को विश्वपटल पर पहचान देना है, ताकि भावी पीढ़ी को हरियाणा के इतिहास और कला संस्कृति से जुड़ाव हो सके। यह बात कविता जैन ने यहां उनकी अध्यक्षता में हुई हरियाणा कला परिषद की समीक्षा बैठक के दौरान कही। बैठक में श्रीमती जैन ने हरियाणा कला परिषद की वेबसाइट भी लॉन्च की।

कविता जैन ने कहा कि हमारा देश संस्कृति और संस्कारों से जुड़ा हुआ देश है। इसलिए विकास के साथ-साथ संस्कृति और संस्कारों को भी निरंतर बढ़ाने की  आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि सरकार की  यही मंशा है कि प्रदेश की संस्कृति को बढ़ावा मिले और भावी पीढ़ी इस संस्कृति को अपनाएं। उन्होंने कहा कि कला संस्कृति एक ऐसा माध्यम है जिससे समाज में किसी भी विषय पर जागरूकता लाने और समाज की सोच बदलने का कार्य प्रभावशाली तरीके से किया जा सकता है। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि हरियाणा की कला संस्कृति को लोक गीतों, कार्यक्रमों इत्यादि के माध्यम से प्रदेश के कोने-काने तक पहुंचाया जाए। उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया के माध्यम से हरियाणा की खान-पान, कला व संस्कृति को राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाएं।

हरियाणा कला परिषद द्वारा उठाए गए मुद्दों पर कला एवं संस्कृति मंत्री ने अधिकारियों को सुझाव देते हुए कहा कि स्कूलों में कला अध्यापक लगाया जाए और स्कूली बच्चों को कला संस्कृति के बारे में पढ़ाया जाए ताकि बच्चों को हरियाणा के इतिहास  और कला संस्कृति का प्रगाढ़ अध्ययन हो सके। उन्होंने कहा कि प्रदेश में ओपन थियेटर के विचार पर भी कार्य करना चाहिए, जिससे लोगों का कला संस्कृति के प्रति अधिक जुड़ाव हो सकेगा। उन्होंने कहा कि जो व्यक्ति हरियाणा की विलुप्त विधाओं को आज भी जीवंत रखने का कार्य कर रहे हैं उनके लिए कोई विशेष नीति बनाई जानी चाहिए और उन्हें प्रोत्साहित करना चाहिए।

बैठक में श्रीमती जैन को बताया गया कि विभाग द्वारा ऑनलाइन पोर्टल तैयार कर लिया गया है और जल्द ही इसे पूर्ण रूप दे दिया जाएगा। इस पोर्टल पर प्रदेश के कलाकार अपना पंजीकरण करवा सकेंगे। पंजीकरण होने के बाद कलाकारों को दी जाने वाली राशि सीधे उनके खाते में पहुंचा दी जाएगी। जिससे कलाकारों को शोषण होने से बचेगा और सिस्टम में पारदर्शिता भी बढ़ेगी।

बैठक में स्कूल शिक्षा विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव धीरा खंडेलवाल, सांस्कृतिक विभाग के संयुक्त निदेशक सुधांशु गौतम, हरियाणा कला परिषद के उपाध्यक्ष, सुदेश शर्मा और क्षेत्रीय निदेशक उपस्थित थे।

Have something to say? Post your comment
और हरियाणा न्यूज़
ताजा न्यूज़
सौर ऊर्जा के इस्तेमाल को बढ़ाना समय की मांग - देवेंद्र दलाई भिक्खु संघसेना नेशनल गौरव पुरस्कार से सम्मानित उरी' के चकमा देते स्टाइक वीडियो ने इंटरनेट पर मचाया तहलका ब्यूटी पैजेंट के प्रति मैं हमेशा आकर्षित रही हूँ – निहारिका रायजादा महाकुम्भ की वायरल लड़की, हिमानी चावला एक बार नए अंदाज में नजर आई इनक्रेडिबल इंडिया, देशवासियों में देशभक्ति की भावना फैलाएगी क्या एक्ट्रेस निहारिका रायजादा इंडिया और लक्सेम्बर्ग की कल्चरल ब्रांड एम्बेसडर बनेगी? न्याय के देवता शनि अस्त - 5 राशियों वाले रहेंगे मस्त - मदन गुप्ता सपाटू राजा राम मुकर्जी की शोर्ट फिल्म को मिली बॉलीवुड से सराहना मधुर संगीत हमेशा के लिए श्रोताओं के दिमाग में रहता है - अनुराग सैकिया 29 नवंबर को रिलीज होगी पंजाबी फिल्म ‘दिन दहाड़े ले जायेंगें’ मनीष ने कैंसर पीड़ित फैन को इंडियन आईडल के सेट पर बुलाया
Copyright © 2016 AbhitakNews.com, A Venture of Lakshya Enterprises. All rights reserved.
Website Designed by Mozart Infotech