Tuesday, 23 January, 2018
हरियाणा न्यूज़

हर खेत को पानी योजना के तहत सुक्ष्म सिंचाई पायलट परियोजना का शुभारंभ

December 24, 2017 08:29 AM

चण्डीगढ - हरियाणा के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ओम प्रकाश धनखड़ ने झज्जर के गांवों सुबाना और अमादलपुर में हर खेत को पानी योजना के तहत सुक्ष्म सिंचाई पायलट परियोजना का शुभारंभ किया। नहरी क्षेत्र विकास प्राधिकरण की ओर से शुरू की इन सिंचाई पालयट  परियोजनाओं पर कुल 338 लाख रूपये की धनराशि खर्च हुई है और सौर उर्जा पर आधारित पर आधारित ड्रिप (टपका) सिंचाई प्रणाली से लगभग 254 हैक्टेयर भूमि सिंचित हो सकेगी।

कृषि मंत्री धनखड़ ने योजना के शुभारंभ अवसर पर उपस्थित किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि सुबाना में 97 हैक्टेयर और अमादलपुर में 157 हैक्टेयर कृषि भूमि पर ईजरायल की तर्ज पर सिंचाई होगी। भूमि कृषि मंत्री ने अमादलपुर के खेतों में इस परियोजना का शुभारंभ किया तो फव्वारा चलता देख मौके पर उपस्थित किसानों ने एकाएक कहा कि यह तो किसानों के लिए वरदान साबित होगी।

उन्होंने कहा कि यह जल क्रांति है। सिंचाई के क्षेत्र में हरियाणा का मानचित्र बदलने की कथा है। किसानों को खादानों से बागवानी की तरफ बढ़ावा देने का द्वार खुला है। प्रदेश में सिंचाई के पानी के घाटे को सरप्लस में बदलने की योजना है। बिजली, पानी और अनुदान के बचत करने की योजना है। प्रदेश में किसानों को सिंचाई के लिए काफी धन खर्च करना पड़ता है, हरियाणा में सिंचाई के पानी की बहुत कमी है। इन्ही समस्याओं को दूर करने के लिए प्रदेश सरकार ने हर खेत को पानी देने का सकंल्प लिया। इजरायल दुनिया ऐसा देश है जहां पानी की बहुत कमी है और टपका सिंचाई से उन्होंने इस कमी को दूर किया है।

हमने भी ईजरायल की सिंचाई योजनाओं का अध्ययन कर यह सपना देखा कि हम भी ईजरायल की तर्ज पर अपने किसानों को सिंचाई की सुविधा मुहैया करवाएंगे। करीब अढ़ाई साल पहले इस योजना को अमलीजामा पहनाने पर कार्य शुरू हुआ और कुछ दिनों पहले पेहवा में इस योजना का शुभारंभ हुआ। आज अपने किसानों के बीच हर खेत को पानी की योजना के तहत सूक्ष्म सिंचाई प्रणाली से खेत में फसल की सिंचाई होते देख मेरा सपना साकार हो रहा है। उन्होंने कहा कि जो सपने देखते हैं वहीं सपनों को साकार भी करते हैं। आज क्षेत्र के इन दो गांवों में ईजरायल की तर्ज पर फसल की सिंचाई का शुरू होना एक और नए खुशहाल दौर की शुरूआत है।

कृषि मंत्री श्री धनखड़ ने कहा कि सरकार का प्रयास है कि प्रदेश के सभी किसान टपका सिंचाई प्रणाली को अपनाएं। सरकार किसानों को हर संभव मदद को तैयार है। इसके लिए किसानों को मिलकर अपने गांव में योजना के प्रारूप को समझकर अपनाना होगा।  सरकार भी इस योजना को सामूहिक रूप से अपनाने वाले किसानों को अनुदान देने की योजना बनाने पर विचार कर रही है। श्री धनखड़ ने कहा कि प्रदेश में लगभग 91 लाख एकड़ भूमि को सिंचित करने की जरूरत होती है। प्रदेश को लगभग साठ लाख एकड़ फीट पानी भाखड़ा डैम तथा 40 लाख एकड़ फीट पानी यमुना से मिलता है। जो हमारी जरूरत का लगभग पांचवा हिस्सा ही है। सिंचाई की जरूरत को पूरा करने के लिए किसान जमीन से जल दोहन करते हैं जो काफी मंहगा साबित होता है।भूजल दोहन से भूजल स्तर निंरतर गिरने से प्राकृतिक असंतुलन भी हो रहा है। टपका सिंचाई प्रणाली भविष्य में सिंचाई के पानी की जरूरत को पूरा करने कारगार साबित होगी।

Have something to say? Post your comment
और हरियाणा न्यूज़
ताजा न्यूज़
आहार बदलने से बढेगी याददाश्त अगले डेढ़ साल शास्त्री तय करेंगे भारतीय टीम की दशा-दिशा नए साल में फार्मा सेक्टर में दिखेगा सुधार भारत को अपने सीमा प्रहरियों को नियंत्रण में रखना चाहिए - चीनी सेना तीन तलाक पर 3 साल की जेल, लोकसभा में ऐतिहासिक बिल पास रसोई गैस अब नहीं होगी महंगी, सरकार ने दाम बढ़ाने का आदेश रद्द किया जयराम ठाकुर हिमाचल के नए मुख्यमंत्री जग्गा जासूस का सीक्वल चाहते हैं रणबीर कपूर मेट्रो मैजेंटा लाइन को आज हरी झंडी दिखाएंगे पीएम मोदी भारत ने श्रीलंका को 5 विकेट से हरा टी-20 सीरिज जीती आतंकवाद से लड़ाई के अनुभव हमसे सीखे अमेरिका - पाक रिलायंस जियो के ग्राहकों की संख्या 16 करोड़
Copyright © 2016 AbhitakNews.com, A Venture of Lakshya Enterprises. All rights reserved.
Website Designed by Mozart Infotech