Tuesday, 24 October, 2017
ब्रेकिंग न्यूज़ :
किन्नरों की जीवनी पर आधारित है फिल्म रक्तधारस्वप्ना पती की फिल्म अंतर्ध्वनि: इनर वौइस् की हुई घोषणायह गुजराती फिल्म निर्माण करने का एक अच्छा समय है: शिजू कटारियाकैंसर के लिए असक्षम लोगों को मिलेगी मुफ्त सर्जरी और किमोथेरेपी : डॉ. मल्होत्राट्यूबलाइट को लेकर विवेक ओबेरॉय ने जताई उम्मीद, कहा- तोड़ेगी बाहुबली-2 का रिकॉर्डमोदी सरकार ने आईएसआईएस को भारत में पैर नहीं जमाने दिया :राजनाथदिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल ने उपराज्यपाल को लिखा खतईवीएम ओपेन चैलेंज, कोई भी दल नहीं कर सका हैकपैसे लेकर सेना में ट्रांसफर-पोस्टिंग करवाने वाला सेना अधिकारी सीबीआई की गिरफ्त मेंसभी राज्य एक जुलाई से जीएसटी लागू करने पर सहमत
चंडीगढ़ न्यूज़

प्रोफेसर ग्रोवर ने किया अंतर्राष्ट्रीय मनोविज्ञान कांग्रेस का उद्घाटन

September 28, 2016 10:06 PM

चंडीगढ़ - तीसरा अंतर्राष्ट्रीय एवं पांचवां राष्ट्रीय मनोविज्ञान सम्मेलन (आईपीएससी-2016) यहां पोस्ट ग्रेजुएट गवर्नमेंट कॉलेज, सेक्टर 46, चंडीगढ़ में शुरू हो गया। तीन दिनों तक चलने वाले इस मनोविज्ञान सम्मेलन का उद्घाटन पंजाब यूनिवर्सिटी चंडीगढ़ के वाइस चांसलर प्रोफेसर अरुण कुमार ग्रोवर ने दीप प्रज्ज्वलित करके किया। समारोह में पंजाब यूनिवर्सिटी के पूर्व मनोवैज्ञानिक प्रो. सागर शर्मा को लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड से सम्मानित किया गया और सम्मेलन की वार्षिक पुस्तिका का विमोचन भी हुआ।

 

अपने संबोधन में प्रोफेसर ग्रोवर ने कहा, 'बिना किसी बड़ी सहायता के एनएपीएस इतना बड़ा आयोजन कर रहा है, इसके लिए संगठन बधाई का पात्र है। परंतु इस आयोजन को और अधिक स्वीकार्य और भव्य बनाने के लिए मुझे लगता है कि एक पब्लिक लेक्चर का आयोजन भी किया जाना चाहिए, ताकि अधिक से अधिक स्थानीय लोग इसका लाभ ले सकें और जागरूकता के इस अभियान में शामिल हो सकें।

 

पोस्ट ग्रेजुएट कॉलेजों को अधिक स्वायत्तता और निर्णय लेने की स्वतंत्रता के बारे में प्रोफेसर ग्रोवर का सुझाव था कि कॉलेजों को स्वायत्त संस्थान बनने की अभिलाषा रखनी चाहिए। सरकार भी यही चाहती है कि पीजी कॉलेजों में अधिक रिसर्च हो और शिक्षा के क्षेत्र में उनका योगदान बढ़ाया जाये।

 

कांफ्रेंस के डायरेक्टर डॉ. रोशन लाल दहिया ने कहा, 'सम्मेलन का फोकस मनोवैज्ञानिक सेहत, शांति और सद्भाव पर है। हमारी कोशिश है कि मनोविज्ञान में अनुसंधान को बढ़ावा दिया जा सके और इसका लाभ लोगों और समाज को मिल सके। कार्यक्रम का संचालन डॉ. राजेश कुमार ने किया। उद्घाटन समारोह में एमडी यूनिवर्सिटी रोहतक के प्रोफेसर राधेश्याम, हरियाणा के स्टेट इलेक्शन कमिश्नर डॉ. दलीप सिंह आईएएस, पीजीजीसी-46 के प्रिंसीपल डॉ. बीपी यादव एवं गलोबल पीस एंड हार्मनी संस्था के संस्थापक डॉ. सुभाष चंद्रा भी मौजूद थे।

 

तीन दिवसीय इस कांफे्रंस का आयोजन पीजी गवर्नमेंट कॉलेज, सेक्टर 46, चंडीगढ़ के मनोविज्ञान विभाग द्वारा वल्र्ड विदआउट एंगर, वल्र्ड इमोशनल लिटरेसी लीग एवं ग्लोबल पीस एंड हार्मनी संस्था के सहयोग से नेशनल एसोसिएशन ऑफ साइकोलॉजिकल साइंस (एनएपीएस) के बैनर तले किया जा रहा है।

Have something to say? Post your comment
और चंडीगढ़ न्यूज़
ताजा न्यूज़
“आई एस आई एस – इंसानियत के दुशमन”, दर्शको को आतंकी कैंपो की हकीकत बयां करेगी – युवराज कुमार “टॉयलेट- एक प्रेम कथा” विवाहित महिला पर, तो काशी है एक लड़की की कहानी - तुषार त्यागी फिल्म 'आईएसआईएस - मानवता के शत्रु' आतंकवादी संगठनों के पीछे की सच्चाई को उजागर करेंगी फिल्म 'डैडिस डॉटर' में बेटी के लिए पिता की सोच दर्शाई गयी है: अभिमन्यु चौहान किन्नरों की जीवनी पर आधारित है फिल्म रक्तधार स्वप्ना पती की फिल्म अंतर्ध्वनि: इनर वौइस् की हुई घोषणा यह गुजराती फिल्म निर्माण करने का एक अच्छा समय है: शिजू कटारिया कैंसर के लिए असक्षम लोगों को मिलेगी मुफ्त सर्जरी और किमोथेरेपी : डॉ. मल्होत्रा ट्यूबलाइट को लेकर विवेक ओबेरॉय ने जताई उम्मीद, कहा- तोड़ेगी बाहुबली-2 का रिकॉर्ड मोदी सरकार ने आईएसआईएस को भारत में पैर नहीं जमाने दिया :राजनाथ दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल ने उपराज्यपाल को लिखा खत ईवीएम ओपेन चैलेंज, कोई भी दल नहीं कर सका हैक
Copyright © 2016 AbhitakNews.com, A Venture of Lakshya Enterprises. All rights reserved.
Website Designed by Mozart Infotech